September 21, 2021

हल्द्वानी लाइव

आपकी आवाज़

मैं ISBT बोल रहा हूं…प्लीज़ अब बनने भी दो मुझे..!

गौलापार ISBT बनाने की मांग को लेकर धरने पर कांग्रेसी
गौलापार ISBT बनाने की मांग को लेकर धरने पर कांग्रेसी

हल्द्वानी #BolHaldwaniBol अपना उत्तराखंड राज्य हासिल करने के 17 साल बीत जाने के बाद भी हमारा अपना हल्द्वानी एक अदद #ISBT आईएसबीटी क्यों नहीं पा सका…ये सवाल अब हर नगरवासी के दिमाग में कौंधता है…लेकिन राजनैतिक दल अपने अपने फायदे के लिए आम जनता को सहूलियत देने के नाम पर उसे पिछले 17 सालों से ठगते आ रहे हैं…

#HaldwaniISBT आज शहर की बढ़ती आवादी के लिए बेहद ज़रूरी हो गया है…पिछली कांग्रेस सरकार ने आईएसबीटी के निर्माण पर गौलापार ज़मीन चयन और उसके निर्माण पर जनता से वसूले करीब साढ़े 3 करोड़ रुपए फूंक दिये…बावजूद इसके वो नगर को एक स्थाई अंतर्राज्यीय बस अड्डा नहीं दे सकी…कांग्रेस सरकार के पिछले चुनाव में बुरी तरह हारने के बाद राज्य में बीजेपी ने अपनी सरकार बनाई…राज्य की जनता ने ताबड़तोड़ वोट देकर बीजेपी को सत्ता पर क़ाबिज़ किया…लेकिन साल बीत जाने के बाद भी अपने हल्द्वानी नगर को एक अदद अंतर्राज्यीय बसअड्डा नहीं मिल सका…जबकि गौलापार ज़मीन भी चयनित थी…आईएसबीटी के निर्माण के लिए जिस भूमि को पिछली कांग्रेस सरकार ने चुना था, वहां आस पास सैकड़ों की तादाद में हरे भरे पेड़ों का कटान तक कर दिया गया…लेकिन बीजेपी के आते ही गौलापार आईएसबीटी की ज़मीन को लेकर ही विवाद शरू हो गये…विवाद ये कि पिछली कांग्रेस सरकार ने ISBT के लिए जिस ज़मीन को चुना था वहां पर कब्रिस्तान था…

बस यहीं से अपने हल्द्वानी नगर में बनने वाले अंतर्राज्यीय बसअड्डे के निर्माण की आस पर राजनीति का ग्रहण लग गया…शहर की विधायक इंदिरा ह्रदयेश ने बीजेपी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि आईएसबीटी निर्माण की फाइल को सचिवालय में हुई एक मीटिंग के बाद रोक दिया गया…

जिसके बाद वर्तमान बीजेपी सरकार ने भी बयान जारी किया कि जल्द ही हल्द्वानी में बनने वाले आईएसबीटी के लिए भूमि का चयन कर निर्माण किया जायेगा…सूत्रों के मुताबिक राज्य सरकार अब गौलापार इलाके में पब्लिक के ख़र्च किये साढ़े 3 करोड़ रुपयों को कूढ़े में डाल तीनपानी बाईपास की तरफ शिफ्ट करने की प्लानिंग बना चुकी है…इस ख़बर के लगते ही कांग्रेस बीजेपी के इस निर्णय के विरोध में आ खड़ी हुई है…कांग्रेसी इसे एक साजिश करार दे रहे हैं…जिसके विरोध में बुधवार से कांग्रेसियों ने नगर में क्रमिक धरना तक शुरू कर दिया है…और मांग की है कि सैकड़ों हरे भरे पेंड काटने और करोड़ों रुपए ख़र्च करने के बाद अब गौलापार में ही आईएसबीटी का निर्माण होना चाहिए…और जब तक सरकार ISBT निर्माण के मामले में अपने मनमाने निर्णय को वापस नहीं लेती कांग्रेसी अपना आंदोलन जारी रखेंगे…

मतलब ये कि विकास के काम में तेजी के बजाय अब एक बार फिर राजनीति देखने को मिल रही है…अपने हल्द्वानी की लगातार बढ़ती आबादी और सड़कों पर हर रोज़, शहर के बीचों बीच बने बस अड्डे के चलते लगने वाले जाम से होने वाली परेशानी का ख्याल इन राजनैतिक दलों को शायद नहीं दिख रहा…

हमारे राजनैतिक दलों को राजनीति से उठकर शहर के विकास के बारे में सोंचना होगा…सोंचना होगा कि पिछले 17 सालों से हल्द्वानी की जनता एक अदद अंर्तराज्यीय बस अड्डा न बन पाने के कारण कितनी परेशानियों से हर रोज़ दो चार हो रही है…बर्तमान में शहर के बीचों बीच बने रोडवेज़ पर न खड़े होने की जगह और न ही बैठने…आम जनता कितनी किल्लतों का सामना कर रही है…यकीन नहीं होता तो इस video को एक बार तो ज़रूर देखिए…

गुज़ारिश है कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही राजनैतिक दलों से, कि अब जहां भी आईएसबीटी बने उस पर राजनीति न करें…प्लीज बनने दें…हम शहरवासियों को बेहद ज़रूरत है आईएसबीटी की…किसी और मुद्दे पर धरना, प्रदर्शन, आंदोलन, कर लीजिएगा लेकिन अब जब सरकार बनवा रही है तो उसे बनने ही दीजिए…

 

 

Share, Likes & Subscribe