September 19, 2021

हल्द्वानी लाइव

आपकी आवाज़

अगर ये नहीं किया तो “उत्तराखंड में नो-एंट्री” !

उत्तराखंड आ रहे हैं तो जान लें ये महत्मवपूर्ण बातें

उत्तराखंड आ रहे हैं तो पढ़ लीजिए ये दिशा-निर्देश, और बचिए होने वाली परेशानियों से !
मुख्य बिंदु :

  • 21 सितंबर से नये नियम लागू
  • सभी के लिए रजिस्ट्रेशन होगा अनिवार्य
  • ज़रूरी कागज़ात करने होंगे अपलोड
  • चेक पोस्ट / नाका , रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और सीमावर्ती ज़िलों के बस स्टेशनों पर होंगे एंटीजन टेस्ट
  • आरोग्य सेतु एप्लीकेशन डाउनलोड करनवा भी अनिवार्य होगा।
    उत्तराखंड कोरोना दिशा-निर्देश – राज्य में कोरोना का प्रकोप कम होने का नाम ही नहीं ले रहा। हर रोज़ मामले कम होने के बजाए गति पकड़ते दिखाई दे रहे हैं। हर कोई दहशत में है और सरकार परेशान कि कैसे कोरोना के मामलों पर नकेल कसी जा सके।
    बाहरी राज्यों से आने वाले कोरोना का संक्रमण अपने साथ न लाएं, इसके लिए सरकार लगातार महत्वपूर्ण कदम उठाती आ रही है। इसी कड़ी में उत्तराखंड सरकार ने बाहरी व्यक्तिों और सैलानियों के लिए अब नये दिशा-निर्देश जारी कर दिये हैं।
  • नये नियमों के तहत-
  • उत्तराखंड आने वाले सैलानियों या लोगों के लिए अब होटल या होम-स्टे में कम से कम दो रात की बुकिंग करवाना ज़रूरी होगी।
  • उत्तराखंड आने वाले लोगों के लिए अपने साथ 96 घंटे की कोविड निगेटुव रिपोर्ट भी लानी होगी।
  • पर्यटक या उत्तराखंड आने वाले शख्स पर कोविड निगेटिव रिपोर्ट नहीं है तो राज्य में प्रवेश करने वाले ऐसे लोगों की थर्मल टेस्ट की व्यवस्था संबधित ज़िला प्रशासन करेगा।
  • कोरोना के लक्षण पाए जाने पर संबधित शख्स का एंटीजन टेस्ट किया जाएगा।
  • यात्रियों को ये विकल्प होगा कि वो सीमा चेक पोस्ट, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या आईसीएमआर अधिकृत कोविड टेस्टिंग लैब से भुगतान कर अपना एंटिजन टेस्ट करवा सकते हैं।
  • सरकार ने होटल प्रबंधकों को भी राहत दी है, और कहा है, कि वो भी पर्यटकों के लिए भुगतान आधारित कोविड टेस्ट की सहूलियत निजी लैब संचालकों के साथ मिलकर कर सकते हैं।
  • इस स्थिति में उन्हें ये सुनिश्चित करना होगा कि आने वाले गेस्ट पर्यटक का कोविड टेस्ट हो जाए। और ऐसे में कोविड टेस्ट यदि पॉजिटिव आता है, तो इसकी सूचना तत्काल संबधित ज़िला प्रशासन को दी जाए।
    इसके अलावा क्वारंटीन नियमों में भी सरकार ने कुछ ढील बरती है। उत्तराखंड सरकार ने कहा है कि दूसरे राज्य से आने वाले व्यक्ति , जिनके पास 4 दिन की कोविड निगेटिव रिपोर्ट होगी उन्हें क्वारंटीन नहीं होना पड़ेगा।
    क्वारंटीन के लिए दिशा-निर्देश
  • 7 दिन से कम समये के लिए आने वाले ( अधोग, परीक्षा, व्यापार, व्यक्तिगत कारण ) लोगों के लिए क्वारंटीन होने की ज़रूर नहीं होगी।
  • 7 दिन से ज्यादा ठहरने या रुकने का प्लान है तो आपको 10 दिन के लिए सेल्फ क्वारंटीन होना होगा।
  • सेना और अर्धसैनिक बलों के जवानों के लिए 10 दिन का संस्थागत क्वारंटीन होना होगा।
  • इस दौरान अगर कोविड के लक्षण दिखाई देते हैं तो उन्हें स्थानीय स्वास्थय संस्थाओं से संपर्क करना होगा।
  • केंद्रिय मंत्री, राज्य मंत्री, न्यायाधीश आदि को क्वारंटीन नहीं होना होगा।
  • राज्य सरकार के अधिकारी 5 दिन से अधिक की वापसी पर कोविड टेस्ट करवाएंगे।
    5 दिन से कम समय के लिए राज्य से बाहर जाने वाले व्यक्तियों को वापस आने पर क्वारंटीन नहीं होना होगा।
  • 5 दिन से अधिक का प्रवास होगा है तो ऐसे लोग 10 दिन के लिए होम क्वारंटीन होंगे।
  • बाहर से आने वाले किसी भी व्यक्ति , जिनके पास 4 दिन का कोविड निगेटिव सर्टिफिकेट होगा , उन्हें क्वारंटीन नहीं होना होगा।
  • किसी भी विदेश से आने वाले व्यक्ति को केंद्र सरकार के द्वारा जारी किये गये दिशाी निर्देशों का पालन करना होगा।
Share, Likes & Subscribe