September 22, 2021

हल्द्वानी लाइव

आपकी आवाज़

नैनीताल : शिक्षक और अभिभावक ज़रूर पढें ,शेरवुड स्कूल के शिक्षकों को क्यों मिली सज़ा…!

नैनीताल #BolNainitalBol शिक्षक हैं और अगर आप लापरवाह हैं … वो भी अपने Students के साथ … तो आपकी खै़र नहीं… अरे दाज्यू हम थोड़ी कह रहे हैं ये… ये तो अपना हाई कोर्ट है न उसके मा. न्यायाधीश महोदय ने मंगलवार के रोज़  एक सज़ा का एलान किया तो पता चला…अरे अपने नैनीताल के शेरवुड कॉलेज के दो शिक्षकों को मिली है ये सज़ा...

ओह…अच्छा किस बात पर सज़ा मिली ठहरी …हुआ क्या…अरे दाज्यू ये जो मामला है न, बहुत ही गंभीर मामला था…था -मतलब…अरे आप भी न…अरे ये मामला अपने शेरवुड कॉलेज से जुड़ा है…जहां के दो Teachers को उनकी लापरवाही के चलते Nainital High Court / नैनीताल हाईकोर्ट ने सज़ा सुनाई है … 

दरअसल दाज्यू ये पूरा मामला है साल 2010 का … जानकारी के मुताबिक #SherwoodCollegeNainital से बच्चों का एक दल अपने रामनगर  के सीतावनी घूमने के लिए गया था… आशीष द्विवेदी और रोहित जलाल नाम के दो शिक्षकों को शेरवुड कॉलेज की ओर से बच्चों के साथ भेजा गया था…बच्चों की पूरी देखरेख का ज़िम्मा इन दोनों शिक्षकों पर ही था…सुरक्षा से लेकर कहां घुमाना है , क्या खिलाना है सब…

रामनगर के सीतावनी से जंगल में घूमने जाने के लिए शिक्षकों ने एक ट्राली का इंतजाम किया और साथ आये बच्चों को उस पर चढ़वा दिया…कुल मिलाकर 42 बच्चे ट्राली पर सवार थे…सब कुछ ठीक ठाक था, लेकिन अचानक ट्राली अनियंत्रित होकर पलट गई … हादसे में 2 बच्चों की मौत हो गई थी…जबकि  7 बच्चे बुरी तरह ज़ख्मी हो गये थे…

मरने वाले बच्चों में से एक उत्तर-प्रदेश के कानपुर ज़िले का छात्र इब्राहिम अंसारी था…जिसकी उम्र महज 14 साल थी…तो वहीं हादसे में जान गंवाने वाला दूसरा छात्र अपने हल्द्वानी का था…14 साल का मासूम अनमोल भट्ट … ट्राली के पलटने के चलते दोनों बच्चे ट्राली के नीचे दब गये थे…जिससे उनकी मौत हुई थी…

मामला चूंकि अपने नैनीताल के नामी गिरामी शेरवुड कॉलेज से जुड़ा था… जहां केवल रसूखदार लोग ही अपने बच्चों को पढ़ा सकते हैं… क्यों मामला पूरी तरह लापरवाही का था, लिहाजा स्कूल के दोनों शिक्षकों के ख़िलाफ कालाढूंगी थाने में ट्रैक्टर चालक समेत Sherwood College के Teacher आशीष द्विवेदी और रोहित जलाल के खिलाफ़ केस दर्ज करवाया गया…मामले में नामजद रिपोर्ट के दायरे में आना वाला ट्रैक्टर चालक रामनगर के ही क्यारी गांव का आनंद सती का रहने वाला था… 

मामले की सुनवाई न्यायिक मजिस्ट्रेट/ प्रथम अपर सिविल जज ( जूड.)  मंजू देवी की #Court में हुई…जिसमें मा. अदालत ने ट्रैक्टर चालक समेत शेरवुड कॉलेज के दोनों शिक्षकों को मासूमों की मौत का दोषी ठहराया…और इन तीनों को ही एक-एक  साल की सजडा का एलान किया…मतलब साफ है कि मासूमों की मौत इन जजानों की लापरवाही की ही वजह से हुई थी…

अगर आप शिक्षक हैं और  अपने स्कूल के बच्चों को  कहीं घुमाने ले जा रहे हैं…तो बेहद सतर्कता और ध्यान से…ताकि आपके साथ गये छोटे छोटे मासूम सही सलामत अपने घर वापस लौट सके…

Share, Likes & Subscribe