September 21, 2021

हल्द्वानी लाइव

आपकी आवाज़

कार के चक्कर में खींची तलवार, 3 कांग्रेसी ग़िरफ़्तार..!

Haldwani Congress Bjp leader fight for a car parking
कार हटाने को लेकर भिड़े “बीजेपी और कांग्रेसी” नेता ( Photo- Illusion )

 हल्द्वानी #BolHaldwaniBol हमारी हल्द्वानी को लगता है किसी की नज़र लग गई है…बताओ कार हटाने को लेकर ही उलझ गये…लात-घूंसा…जूता चप्पल…लाठी-डंडा जिसके जो हाथ आया ख़ूब चला…अरे भई इतने पर ही रहते न…हद तो तब हो गई जब तलवारें म्यान से खींच कर बाहर आ गई…

कसम से जी कर रहा है, कि चुल्लूभर पानी में…लेकिन इन लोगों को फिर भी शर्म नहीं आयेगी…सबके सब राजनीति के चक्कर में पड़कर अपने घर वालों का तमाशा बनाने में जुटे हैं…ज़रा भी शर्म-हया नहीं बची है…कि घर में बैठे मां-बाप…भाई-बहन…पत्नी…और बच्चों पर क्या बीतती है…जब उनके घर का कोई शख्स इस तरह के झगड़े करते फिरता है…अजी इन्हें कहां की शर्म…सब के सब राजनेता बने हुए हैं…ख़ुद को मोदी और राहुल गांधी से कम थोड़े ही समझते हैं…ये बीजेपी और कांग्रेस के कार्यकर्ता…अरे भईया पहले इनकी तरह बन तो लो…फिर लड़ लेना बीच सड़क पर खड़े होकर…बहुत पापड बेलने पड़ते हैं…मोदी और राहुल बनने के लिये…और तुम लोग हो कि मोदी और राहुल के नाम पर मिट्टी फेरने में लगे हुए हो…

हल्द्वानी के “वीर” सपूत  ( Photo : Illusion ) 

अरे क्या दाज्यू वो ही 3 जनवरी की रात वाली वारदात के बारे में बात कर रहा हूं न…जब अपने हलद्वानी के…जवानी के खून से लवरेज बीजेपी नेता और कांग्रेसियों में जमकर जूतम-पजार हुई…सच में हद कर दी इन नेताओं ने…ज़रा सी बात पर इतना बवाल…अरे वो ही अपना आवास विकास है न… अरे अपनी मैडम के होटल के पीछे…वहां 3 जनवरी की रात अपने Haldwani के BJP leader Sameer Arya पर कांग्रेस नेताओं ने तलवार से हमला कर दिया था…अरे सच में…हां भई …आरोप तो ऐसा ही लगाया है बीजेपी नेता ने …और पुलिस ने भी इस वारदात में शामिल दो आरोपियों को धर लिया था…लेकिन सोमवार को बाकी के तीन आरोपी भी अब पुलिस ने धर दबोचे…

Haldwani
बीजेपी नेता पर हमले के आरोप में गिरफ्तार कांग्रेसी नेता

ये देखिए पुलिस की गिरफ्त में तीनों के चेहरे…पूरी बेशर्मी छाई हुई है…ज़रा भी अपने किये पर पछतावा नहीं…अगर वाकई किया है तो…नशा है तो कांग्रेसी होने का…कसम से ऐसे ही लोग पार्टी की नैय्या डुबाते हैं…अरे मेरे वीर कुछ करना ही था, तो अपने शहर के लोगों के लिए करते…आईएसबीटी की मांग को लेकर ही सड़क पर बैठ जाते…आंदोलन करते और जेल जाते…तो बात कुछ समझ में भी आती…लेकिन बीजेपी नेता समीर आर्या पर आपने तो तलवार ही खींच दी…जैसा आरोप है आप पर…

अरे दाज्यू हद तो तब हो गई जब इस पूरी वारदात के बाद बीजेपी और कांग्रेसी नेता कोतवाली पहुंचे…यहां भी इन पक्षों ने एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा काटा…इसके बाद अगले दिन बीजेपी के समीर आर्या ने कांग्रेसी नेता गुरमीत सिंह प्रिंस, धीरज कुकरेजा, हर्षित जोशी, मोनू कपूर, तरन बिंद्रा और अन्य पर एससी-एसटी एक्ट, बलवा, मारपीट समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज करवा दिया…तो वहीं रामपुर रोड निवासी तरणप्रीत ने भी तहरीर देकर BJP नेता समीर आर्या और अन्य के विरुद्ध मारपीट का मुकदमा दर्ज करवा दिया… 3 जनवरी की रात आवास विकास में हुई बीजेपी और कांग्रेसी नेताओं की गुंडई की जांच सीओ दिनेश ढौंडियाल के हाथ में आई…9 दिन बाद यानि 12 जननवरी को इस मामले में सीओ ढौंडियाल ने हर्षित जोशी और तरन बिंद्रा को गिरफ्तार कर लिया…और अब सोमवार बाकी के बचे तीन आरोपी गुरमीत सिंह प्रिंस, धीरज और मोनू की गिरफ्तारी भी पुलिस ने कर ली…

लेकिन दाज्यू एक बात में समझ में नहीं आई…अरे बोल अब क्या समझ में नहीं आया…सारी कहानी तो सुना दी…अरे दाज्यू…कुछ सवाल बार बार मन में आ रहे हैं…रे पूछ ले…अब…दाज्यू ये जो कांग्रेसी गिरफ्तार किये गये…सबकुछ इन्हीं ने किया था क्या…ये जो बीजेपी वाले हैं बस चुपचाप पिटते रहे थे…  क्या..?…क्योंकि रिपोर्ट तो गिरफ्तार हुए लोगों ने भी लिखवाई थी…उफ्फ अरे पगले तू भी न बड़ा ही भोला है…देख तू सत्ता कि हनक को नहीं जानता…सब सत्ता का खेल है बाबू…जिसकी लाठी उसकी भैंस…वो तो ठीक है चलो मान ली आपकी बात…लेकिन ये SC/ST एक्ट क्यों लगाया गया..ओहो…बहुत सवाल पूछता है तू…अरे बाबू…जो अपने बीजेपी वाले समीर आर्या जी हैं…वो रिर्जव श्रेणी में आते हैं…तो क्या हुआ दाज्यू…इससे क्या मतलब…मतलब क्या मारपीट में भी आरक्षण का फायदा मिलेगा…अरे चुप…ज्यादा कानून मत पड़…चल  अपनी पैनी नज़रें खोले रख…देख शहर में कहीं कुछ हो तो नहीं रहा…!            

Share, Likes & Subscribe