September 17, 2021

हल्द्वानी लाइव

आपकी आवाज़

कोरोना को लेकर अध्ययन में हुआ ये बड़ा खुलासा

कोरोना वायरस को लेकर एक अध्यन में हुआ खुलासा। कोरोना वायरस से संक्रमित 20 फीसदी मरीजों ने बाकी के 80 फीसदी लोगों तक पहुंचा वायरस। अध्यन के मुताबिक कहा गया है कि ये जरूरी नहीं कि हर एक संक्रमित व्यक्ति किसी दूसरे तक इसे पहुंचाता है। बल्कि कोविड के चपेट में आने वाले कुछ लोग ही इस वायरस से कई लोगों को संक्रमित कर सकते हैं।

कोरोना वायरस को माहामारी धोषित हुए छह महिने से अधिक हो गए हैं। नवीनतम अध्ययन में बड़ी समाजिक सभा से बचने के लिए कहा गया है, बड़ी सभा के कारण ही कोरोना के प्रकोप बढ़ने के आसार होते हैं।

वहीं, हांगकांग के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के लेखकों द्वारा गुरुवार को प्रकाशित हुए अध्ययन में कहा गया है कि सार्स-सीओवी-2 वायरस के फैलाने की संपूर्ण क्षमता रखता है। सार्स-सीओवी-2 व्यक्तिगत संचरण की उच्च स्तर की विवीधता को दर्शाता है।

अध्ययनकर्ताओं ने 23 जनवरी से 28 अप्रैल के दौरान 1,038 संक्रमण मामलों से संपर्क ट्रेसिंग डाटा की जांच की, जिससे उन्होंने संक्रमण के सभी स्थानिय समूहों की पहचान की। उन्होंने कहा, 51 समूहों 309 मामलों में से 4 से 7 की पहचान की गई औऱ अनुमान लगाया गया कि 19 फीसदी मामलों ने बाकी 80 फीसदी समुदाय में वायरस को फैलाया है।

इससे पता चलता है कि बडी सामाजिक सभा जैसे बार, रेस्तरां, शादी या धार्मिक स्थल पर इक्ट्ठा होना इस वायरस के खतरे को तेजी से बढ़ावा देती है।

Share, Likes & Subscribe