#HaldwaniLive #BolHaldwaniBol उत्तराखंड देश में प्रतिभा संपन्न एक ऐसा राज्य है, जहां खेल-खिलाड़ी-संस्कृति की अनमोल विरासत मौजूद है। खेल खिलाड़ियों को राज्य बनने के बाद वो गति नहीं मिल सकी जो उन्हें मिलनी चाहिए थी। लेकिन जैसे जैसे वक्त बदला राज्य में बदलाव होना शुरू हो गया। अब खेल और खिलाड़ियों के बारे में भी सरकार अपना रुझान दिखा रही है। इसी के चलते खासतौर पर उत्तराखंड क्रिकेट को मान्यता दिलाने की कोशिश तेज़ हो चली हैं। ख़बरों के मुताबिक बीसीसीआई ( भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ) इस मामले पर गंभीरता से विचार कर रही है और जल्द ही राज्य का दौरा भी कर सकती है।

दरअसल उत्तराखंड क्रिकेट एशोसिएशन ने सुप्रीम कोर्ट में इस संबध में एक याचिका दायर की थी…जजिस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने #BCCI कमेटी को निर्देश जारी किये थे, कि उत्तराखंड क्रिकेट मान्यता मामले को जनवरी 2018 तक निवटाया जाये। क्योंकि 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में BCCI को  उत्तराखंड क्रिकेट मान्यता के फैसले पर अपना जबाव दाखिल करना है। जो उत्तराखंड क्रिकेट को नई पहचान दे सकती है।

उत्तराखंड में क्रिकेट की कई एशोसिएशन हैं….जिनमें आपसी खींचतान के मामले सामने आते रहे हैं। जजिसका ख़ामियाज़ा सिर्फ और सिर्फ ख़िलाड़ियों को ही उठाना पड़ा। और राज्य से प्रतिभावान खिलाड़ियों को दूसरे राज्यों से क्रिकेट खेलने के लिए विवश होना पड़ा। क्रिकेट एशोसिएशनों की आपसी कलह के चलते ही, राज्य बनने से लेकर अब बीसीसीआई ने उत्तराखंड क्रिकेट को वो अहमियत नहीं दी जो उसे बहुत पहले मिल जानी चाहिए थी।

जानकारी के मुताबित उत्तराखंड राज्य ने बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले क्रिकेटर दिये हैं। जिनमें प्रमुख हैं

 

Share, Likes & Subscribe