#Haldwanilive #हल्द्वानी  में नये साल के पहले ही दिन राज्य के मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत 1 जनवरी को नगर में ख़ुद मौजूद रहे…मौका था अपने MB इंटर कॉलेज में होने वाला पंडित दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना समारोह…जिसके तहत 12,391 किसानों को करीब 30 करोड रुपए का ऋण वितरित किया गया…खुद मुख्यमंत्री रावत ने 32 किसानों को एक-एक लाख रुपए के चेक दिये।

लेकिन किसान भाइयों को ये भी साफ कर दिया, कि भइया देखो चेक तो ले रहे हो ऋण के…वापस भी लौटाना होंगे ये पैसे…क्योंकि सरकार किसानों का कर्ज माफ़ बिल्कुल भी नहीं कर पाएगी।

वहीं दूसरी ओर पानी की किल्ल्त से जूझते हल्द्वानी वासियों को नये साल पर ग्रेविटी वाटर का तोहफा देने की घोषणा भी की…जिसके तहत जल्द ही नगरवासियों के लिए गुरुत्व जल यानी ग्रेविटी वाटर मुहैय्या करवाया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने नगरवासियों को ये भी उम्मीद बंधाई कि जमरानी और सौंग बांध बनाने का जो काम है उसे भी जल्द पूरा किया जायेगा…साथ ही स्वास्थय सेवाओं में सुधार की पर बोलते हुए कहा कि सरकार जल्द ही राज्य में बेहतर सुविधा देने पर गंभीरता से काम कर रही है…जिसके मद्देनज़र भीमताल के ओखलकांडा विकास खंड में बीमार चल रही स्वास्थय सेवाओं को जल्द ही स्वस्थ किया जायेगा…और सरकार #ओखलकांडा-विकास-खंड के अस्पताल को टेली रेडियोलॉजी, टेली मेडिसिन जैसी सुविधाओं से जोड़ेगी।

बहरहाल खुद मुख्यमंत्री का हल्दवानी में नये साल के पहले ही दिन आना और हलद्वानी वासियों को हो रही असुविधायों पर गंभीरता दिखाते हुए पानी की समस्या पर खास फोकस रखना…ये बताने के लिए काफी है कि जल्द ही हल्द्वानी में पानी की किल्लत को दूर करने के प्रयास सरकार की ओर से पूरे किये जाएंगे। हल्द्वानी सहित देहरादून के वाशिंदों को ग्रेविटी वाटर जल्द उपलब्ध कराने की घोषणा भी ये साबित करती है, कि पानी की किल्लत पर सरकार पूरी तरह से संजीदा है…और सरकार बचत में भी यकीन रखती है…क्योंकि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया, कि ग्रेविटी वाटर से सरकार हर साल करीब 150 करोड़ रुपये बचाने में सक्षम हो पायेगी।     

Share, Likes & Subscribe