सुहेब इलियासी, ये वो नाम है जिसने करीब दो दशक पहले टीवी चैनल पर अपना चेहरा …अपनी आवाज़ और अपने एक शो-दमखम पर बेहिसाब शौहरत और दौलत दोनों बटोरीं। और देखते ही देखते साल नहीं…महीनों नहीं…बल्कि चंद दिनों में इलियासी ने वो स्टारडम हासिल कर लिया…जिसे बटोरने में लोगों की पूरी जिंदगी कम पड़ जाती है।

उस शो का नाम था India’s Most Wanted …हिंदुस्तान की टीवी स्क्रीन पर आने वाला पहला ऐसा क्राइम-शो जिसने अपराधियों की नींद उड़ा दी थी। लेकिन तारीख 20 दिसंबर सन् 2017 दिन बुद्धवार  को खुद इलियासी की नींद तब उड़ गई जब उसे दिल्ली की भरी अदालत में पत्नी का क़ातिल दोषी करार दिया गया। वो ही सुहैब इलियासी जो कभी मोस्ट-वांटेड अपराधियों का ठौर-ठिकाना पुलिस तक पहुंचाने में मदद करता था…वो ही इलियासी अब खुद एक अपराधी सिद्ध हो चुका है…इलियासी को पत्नी अंजू के क़त्ल का आरोपी सिद्ध होने पर उम्रकैद की सजा मिली है।

कौन है सुहैब इलियासी –

पत्नी के क़त्ल के आरोप में उम्रकैद की सजा पा चुका सुहैब इलियासी, ऑल इंडिया इमाम ऑर्गनाइजेशन के हेड के अलावा कस्तूरबा गांधी मार्ग पर स्थित एक मस्जिद के इमाम भी रह चुके  सुहैब जमील इलियासी का बेटा है। सुहैब ने कस्तूरबा गाधी मार्ग पर बनी इसी मस्जिद में अपना ऑफिस भी बना रखा था…और वहीं से इसकी जिंदगी का स्टारडम शुरू हुआ था।

अंजू और इलियासी की पहली मुलाकात कहां, और कैसे हुई थी शादी –

बात सन् 1989 की है.. ये वो साल था जब सुहैब इलियासी और अंजू की मुलाकात हुई। उस वक्त दोनों ही दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से मॉस-कम्यूनिकेशन की पढ़ाई कर रह थे। और अंजू के पिता जामिया के ही मेटलर्जी डिपार्टमेंट में बतौर हेड तैनात थे।

अंजू और इलियासी के मुहब्बत के चर्चे जामिया में आम हो चुके थे। अंजू और सुहैब के रिश्तों का पता चलते ही अंजू के परिवार ने इसका पुरज़ोर विरोध किया…ये विरोध सुहैब के घरवालों ने भी किया। लेकिन अंजू और इलियासी पर इश्क का ऐसा जुनून सवार था कि दोनों ने अपने-अपने परिवारों को दरकिनार कर दिया। और लंदन पहुंचकर स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत सन् 1993 में शादी कर ली। कोर्ट मैरिज के बाद दोनों ने निकाह किया…निकाह के बाद अंजू  अब अफ़सान बन चुकीं थीं। निकाह करने के करीब एक साल बाद तक दोनों लंदन में ही रहे। लेकिन अक्टूबर 1994 में जब सुहैब और अंजू दोनों वापस हिंदुस्तान की सरज़मीं पर लौटे,, तो अंजू में अचानक आये बदलाव से इलियासी चौंक उठा। अंजू ने सुहैब के साथ रहने से ही इंकार कर दिया…और करीब 6 महीने बाद ही देश छोड़ एक बार फिर लंदन लौट गईं…जहां अंजू अपने भाई के रहने लगीं।

सुहैब और अंजू की प्रेम कहानी अब यू-टर्न ले चुकी थी। अंजू के भाई की माने तो अंजू सुहैब से तलाक लेकर अलग होना चाहतीं थी…लेकिन सुहैब ने अंजू से तलाक न लेने के लिए बात की। जानकारी के मुताबिक इस पारिवारिक मुद्दे पर पत्नी अंजू से बात करने के लिए इलियासी खुद अप्रैल 1994 में लंदन पहुंचा…जिसके बाद दोनों पति-पत्नी एक साथ दोबारा फिर भारत लौट आये। और सन् 1995 में  अंजू ने इलियासी की बेटी को जन्म दिया। नाम रखा गया आलिया…आलिया दोनों की प्रेम-निशानी थी…cont…

Share, Likes & Subscribe