नैनीताल के व्यापारियों ने वो कर दिया…कि सर्दी में गर्मी का एहसास हो गया उन्हें..!

नैनीताल में  नगर पालिका दफ़्तर में व्यापारियों का हंगामा
अवैध फड़-खोखे लगाने वालों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करते व्यापारी

नैनीताल #BolNainitalBol हमारे ख़ूबसूरत नैनीताल को मानों किसी की नज़र लग गई है…कोई दिन नहीं जाता जब एक नया बवाल हमारे शहर में न हो…बुधवार के रोज भी कुछ ऐसा ही शुरू हुआ…अरे वो ही सब फड़ खोखे वालों को हटाने की मांग…

अपना जो मल्लीताल का पंत पार्क है न, वहां से लेकर अपने गुरूद्वारा तक जो पाथ-वे है वहां तक जो फड़ खोखे लगाते हैं…उन्हें वहां से हटाने को लेकर हाईकोर्ट आदेश भी दे चुका है…लेकिन आदेश के बाद भी इन फड़-खोखे वालों को हटाया नहीं गया है…बस यही बात जो है न अपने शहर के जो व्यापारी हैं…उन्हें अख़र रही है, कि भई हाईकोर्ट आदेश कर चुका है तो फिर देरी क्यों…इसी सवाल का जबाव मांगने अपने व्यापारी भाई जो हैं सीधे नगर-पालिका के दफ्तर पहुंच गये…बस फिर क्या था…नगर पालिका के काम करने के तरीके से सब लोग भन्नाये तो पहले से ही बैठे थे…लेकिन इस मामले पर सबका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच चुका था…  

नैनीताल - नगर पालिका दफ़्तर
                नैनीताल – नगर पालिका दफ़्तर

दाज्यू सब कुछ ठीक-ठीक था…लेकिन अचानक ही अपने व्यापारी भाईयों ने एडीएम, ईओ, एसपीसिटी जो जो पालिक के दफ्तर पहुंचे थे…सबको एक साथ ही बंधक बना लिया…सच गज़ब स्थिति थी दफ्तर में…बेचारे अधिकरियों के चेहरे देखने लायक थे…एक ही कहावत बार बार दिमाग में घूम रही थी…नमाज़ पढ़ने ये और रोज़े गले लग गये…

दाज्यू इस सब ड्रामें में मामले ने तूल पकड़ लिया…अब अपना शहर ठहरा छोटा सा…ख़बर लगते ही पुलिस भी आ पहुंची, लेकिन मौकाए-वारदात का सीन देखकर तो सर्दी में उन्हें भी गर्मी का एहसास होने लगा…

सबसे ज्यादा गर किसी अधिकारी पर व्यापारियों ने गुस्सा निकाला वो ठहरे अपने पालिका के ईओ शर्मा जी..अरे वो ही रोहिताश शर्मा जी…ज़िंदगी में ऐसा घेराव शर्मा जी नहीं देखा होगा…जैसा अपने यहां वालों ने दिखा दिया…मरते क्या न करते…समझाने लगे व्यापारियों को…अब दाज्यू तुम्हीं बताओ इन दुकान वालों के पास दिमाग ठहरा मनी-मनी वाला…इन्नी आसानी से कहां समझने वाले ठहरे…

लेकिन जब ईओ साहेब की बात पर सबने गौर किया…तो सब सन्न…शर्मा जी बेचारे परेशान होकर बताने लगे…वोले आप लोग समझते हैं कि हम फड़ खोखे वालों को हटाना नहीं चाहंते…अरे सा नहीं है…अपनी नगर पालिका के कर्मचारी हटाने गये थे एक दिन…लेकिन वो जो फड़-खोखा वाले है न हमारी टीम पर ही हमला कर दिया…अब आप लोग ही बता दो हम क्या करें…पुलिस वाले हम धिकारियों की बात तक नहीं सुनते…अब बताओ न आप…हम क्या करें…तहरीर दे चुके हैं…मजाल है जो पुलिस ने उनके खिलाफ़ कोई एक्शन लिया हो…अब बताओ न आप हम क्या करें…

ईओ "रोहिताश शर्मा" को व्यापारियों ने बनाया बंधक
नैनीताल के व्यापारियों से झूझते – नगर पालिका ईओ “रोहिताश शर्मा”

दाज्यू कसम से बता रहा हूं, किसी फिल्म के सीन से कम ये ड्रामा नहीं था…ईओ शर्मा जी की बात सुनकर अपने व्यापारी भी हैरान-परेशान…सोंचने लगे…कि ख़िर हो क्या रहा है शहर में…हाईकोर्ट के आदेश की मान नहीं रहा…पालिका कर्मी पर हमला करने वालों के खिलाफ पुलिस कोई कार्रवाई कर नहीं रही …आखिर है क्या ये सब…हूं…दाज्यू इसके बाद तो पासा पलट गया…ईओ साहेब तोत मुक्ति पा गये…एसपी सिटी साहेब फंस गये …अब मरता क्या न करता…ईओ साहेब टोपी घुमा चुके थे…एसपी सिटी साहेब भी समझ चुके थे…दाज्यू बस मौके की नज़ाकत को भांपते हुए एसपी सससिटी साहेब फौरन बोल पड़े…आप लोग टेंशन न लो अतिक्रमण हटाने के लिए डेढ़ सेक्शन पीएसी दी जायेगी…तब कहीं जाकर व्यापारियों के मन को तसल्ली हुई…अच्छा ये तो बता कि अपने बाज़ार से था कौन-कौन…अरे दाज्यू वो ही सब अपने नेता जी व्यापार संघ वाले नेगी द् ..अरे किशन नेगी , कमलेश ढोंढियाल, सोनू बिष्ट, जीत सिंह, त्रिभुवन फर्त्याल, जीत सिंह नंद, विक्की वर्मा, आनंद खम्पा, दिग्विजय बिष्ट सभी तो ठहरे…लेकिन सच बताऊं न सीन देखकर मचा आ गया…                

Share, Likes & Subscribe

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *