महज 600 रुपयों के लिए नैनीताल में मर्डर..!

नैनीताल #HaldwaniLive  #BolNainitalBol बुधवार सुबह करीब 9 बजे हमारी सरोबर नगरी में सब कुछ शांत था…सैलानी सड़कों पर मस्ती कर रहे थे, घूमफिर रहे थे…लेकिन अचानक तल्लीताल बस स्टैंड पर नारेबाजी होने लगी, भीड़ जुटने लगी। दरअसल ये वो लोग थे जो अपने एक साथी की मौत पर प्रदर्शन कर रह थे। देखते ही देखते इन सभी के प्रदर्शन के चलते तल्लीताल बस स्टेशन के आस-पास जाम लग गया।

दरअसल ये पूरा मामला नैनीताल नगरपालिका कर्मी सूरज की मौत से जुड़ा है। हरिनगर निवासी सूरज के परिवार वालों का कहना है कि रविवार की सुबह सूरज का 600 रुपयों को लेकर अभिषेक कीर्ति, सुनील शास्त्री और अनिल के साथ झगड़ा हुआ था। परिजनों का आरोप है, कि लड़ाई के दौरान इन लोगों ने सूरज के सिर में किसी भारी चीज से वार कर दिया, जिसके चलते वो बेहोश हो गया। वहीं बूचड़खाना चलाने वालों ने जब सूरज को देखा तो उसके मुंह से झाग निकल रहे थे। फौरन सूरज को बीडी पांडेय अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी के लिए रैफर कर दिया गया। लेकिन सूरज की नाजुक हालत के चलते उसे सुशीला तिवारी से बरेली राममूर्ति अस्पताल के भेज दिया गया। लेकिन सूरज को बचाया नहीं जा सका, सुरज ने दम तोड़ दिया।

सूरज की मौत के जिम्मेदार लोगों पर जब कोई पुलिसिया कार्रवाई नहीं हुई…तो बुधवार सुबह पुलिस की लापरवाही से गुस्साये परिजन सड़कों पर उतर आये। साथ में शामिल हो गये नगर पालिका में काम करने वाले सूरज के साथी…क्योंकि सूरज बाल्मीकी समाज से ताल्लुक रखता था तो बाल्मीकी समाज के लोग भी सड़कों पर तर आये। बुधवार सुबह करीब 10 बजे ये सभी लोग इक्ट्ठा होकर तल्लीताल बस स्टैंड पहुंच गये।सभी लोग एक ही आवाज़ में सूरज की मौत के जिम्मेदार आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। जिसके चलते तल्लीताल बस स्टैंड पर भारी जाम लग गया।

जाम की स्थिति बनती देख और मौके की नजाकत को देखते हुए फौरन एसपी सिटी हरीश सती, एसओ प्रमोद पाठक तल्लीताल बस स्टैंड आ पहुंचे। और सूरज के परिजनों को मामले में दो आरोपियों को हिरासत में लेने की जानकारी दी…तब कहीं जाकर सूरज के परिजनों ने जाम खोला…लेकिन साथ ही पुलिस को चेतावनी भी दी कि अगर जल्द सूरज के क़ातिल गिरफ्तार नहीं हुए तो…वो बड़ा आंदोलन करेंगे…इस सबके बाद परिजन और साथी सूरज के अंतिम संस्कार के लिए चले गये। लेकिन जिस तरह से महज 600 रुपयों के लिए सूरज को क़त्ल कर दिया गया…वो वाकई सोंचने वाली बात है।

Share, Likes & Subscribe

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *