मालिक के नमक का किया “हक़ अदा”…अपहरणकर्ता से छुड़ाई मासूम ..!

girl playing with a Labrador
पालतू लैब्राडोर के साथ खेलती बच्ची  ( छाया : काल्पनिक )

हल्द्वानी #HaldwaniLive वो बेजुबान था … लेकिन वफ़ादार था … वो ज़ंजीर से बंधा लेकिन कयामत आने पर उसने अपनी बेड़ियां तोड़ डालीं…जानते हैं क्यों, क्योंकि उसने अपने मालिक का नमक खाया था…और उसकी रंग-रंग में मालिक के नमक की वफ़ादारी का ख़ून दौड़ रहा था…वक्त आने पर उसने न सिर्फ नमक का कर्ज़ अदा किया बल्कि अपने फ़र्ज को भी बख़ूबी अजांम दिया…

ये कोई कहानी नहीं है, बल्कि वो हक़ीकत है, जिसने गिरगिट की तरह रंग बदलने वाले इंसान को वफ़ादारी और नमक का फ़र्ज अदा करने की नसीहत दी है…आज की रियल लाइफ स्टोरी का हीरो है, एक वफ़ादार लेब्रा …

Girl Playing with her Pet
पालतू लैब्रा के साथ मस्ती करती मासूम ( छाया : काल्पनिक )

अपने हल्द्वानी के बरेली रोड पर हिमालयन फार्म गौजाजाली इलाके में राजीव गुप्ता रहते हैं…राजीव गुप्ता के 3 साल की एक प्यारी सी बेटी है…नाम है कीर्ति…घर में मासूम कीर्ति के अलावा राजीव गुप्ता की मां ऊषा और पत्नी चंचल भी हैं…राजीव के घर में एक पालतू लैब्राडोर कुत्ता भी है…

मासूम कीर्ति लैब्रा के साथ खूब खेलती कूदती और मस्ती करती रहती है…लैब्रा भी कीर्ति की मस्ती में मग्न होकर उसके साथ कूदता फांदता…अक्सर राजीव अपने पालतू लैब्रा को दिन के वक्त घर के बाहर बांध दिया करते…उस रोज़ भी राजीव ने लैब्रा को घर के बाहर बांध दिया था…पत्नी चंचल और राजीव की मां घर के काम में व्यस्त थे…और हर रोज़ की तरह राजीव गुप्ता की 3 साल की प्यारी बिटिया…घर के बाहर अपने हम-उम्र बच्चों के साथ खेल कूद रही थी…

लेकिन राजीव गुप्ता जिस गली में रहते हैं…उस रोज़ वहां सबकुछ सामान्य नहीं था…एक शख्स था, जो जिसकी नज़र उनकी मासूम बेटी पर गढ़ी थी…वो शख्स कीर्ति को अगवा करना चाहता था…और मौका मिलते ही उस शख्स ने मासूम कीर्ति को झटके से उठाया और अगवा कर भागने लगा…चूंकि घर के लोग अंदर थे…लेब्रा भी जंजीर से बंधा था लिहाज़ा बदमाश बेफिक्र था… बस यहीं वो बदमाश मात खा गया…

kidnapping a kid
मासूम को अगवा कर भागता बदमाश – छाया काल्पनिक 

बदमाश जैसे ही कीर्ति को अगवा कर भागा…उसे घर के बाहर बंधे Labrador pet ने देख लिया…पहले तो बदमाश की इस करतूत पर लैब्रा ने ज़ोर-ज़ोर से भौंकना शुरू कर दिया…लेकिन जब उसकी आवाज़ सुनकर घर से कोई नहीं निकला तो…लैब्रा बौख़ला गया…जिस मासूम कीर्ति के साथ वो हर रोज़ खेलता कूदता उसे कोई अगवा कर ले जा रहा था….बस ये बात उस वफ़ादार लैब्रा को एक आंख न भाई…और उसने पूरा दमखम लगाकर अपनी लोहे की ज़जार को तोड़ डाला…और उस बदमाश के पीछे दौड़ पड़ा…जो उसकी प्यारी कीर्ति को अगवा कर भाग रहा था…

बेखौफ़ होकर भाग रहे अपहरणकर्ता ने जब अपने पीछे पालतू ख़तरनाक़ लैब्रा को देखा…तो उसके होश उड़ गये…मरता क्या न करता…बदमाश ने फौरन ही नजाकत  को समझा और कीर्ति को फौरन गोद से उतार कर भाग निकला…

अपहरणकर्ता के पीछे जंजीर तोड़कर भागता पालतू “लैब्रा” ( File – Photo ) 

लैब्रा के ज़ोर-ज़ोर से भौंकने और जंजीर तोड़कर भागने का जब घर वालों को अहसास हुआ तो सब घर के बाहर आ गये…

लैब्रा की बहादुरी … बफ़ादारी और फर्ज़ के आगे बदमाश घुटने टेककर भाग चुका…मासूम कीर्ति बदमाश के चंगुल से आज़ाद हो चुकी थी…घर वालों ने फौरन कीर्ति को गले से लगा लिया…और लैब्रा को ढेर सारा प्यार दिया…वो प्यार जिसका वो वाकई हक़दार था…मौके पर पहुंची पुलिस भी लैब्रा की तारीफ़ किये बिना नहीं रह सकी…सारा इलाके में पालतू लैब्रा की वफ़ादारी के चर्चे हैं…

काश पालतू लैब्रा की तरह इंसान भी प्यार और वफ़ादारी का मतलब समझ पाते…इसलिए बेज़ुबान जानवरों से प्यार कीजिए…उनकी रक्षा कीजिए…क्योंकि प्यार की की कीमत नहीं होती…ये बेशकामती होता है…जितना देंगे उससे कहीं ज्यादा आप पाएंगे…

Share, Likes & Subscribe

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *