IT Raid in Haldwani Central Hospital … हल्द्वानी के सेंट्रल अस्पताल में इनकमटैक्स का छापा..!

Income Tax raid in Haldwani's Central Hospital
हल्द्वानी के “सेंट्रल अस्पताल” में आयकर विभाग का छापा…!

हल्द्वानी #BolHaldwaniBol #HaldwaniLive अरे दाज्यू ये क्या हो रहा है…सुना है अपने शहर में लोग जमकर पैसा कमा रहे हैं…हां कमा तो रहे हैं…अरे तो फिर टैक्स भी मोटा जमा करते होंगे…अरे क्या बात कर दी…ऐसा होता तो फिर गुरूवार को इनकम टैक्स वाले छापेमारी थोड़े ही करते…

अरे ऐसा क्या…अरे हां दाज्यू , ऐसा ही ठहरा…कमा तो रेलम-पेल करके रहे हैं…लेकिन टैक्स चोरी करके…ओहो तो ये बात है…तभी मैं कहूं कि इनकम टैक्स वालों की इन्वेस्टिगेशन टीम को क्यों छापेमारी करनी पड़ी…अच्छा ये तो बताओ कि ये आयकर वालों ने छापेमारी कहां-कहां की…अरे लो जी आपको नहीं पता…अरे वो ही सेंट्रल अस्पताल में और उसके चारों डायरेक्टर के घरों पर हुई ये इनकम-टैक्स वालों की छापेमारी…अरे आयकर वालों ने बड़ी कार्रवाई की है…अपने हल्द्वानी समेत देहरादून, मेरठ, गाज़ियाबाद, नोएडा से Income Tax वालों की टीमें आई हुई हैं…इन सभी ने खुफिया जानकारी पर आयकर वालों ने अलग-अलग टीम बनाकर #HaldwaniCentralHospital और उसके Directors के घरों पर एक साथ छापेमारी की…#Haldwani Central Hospital और घर पर जो छापेमारी हुई उसमें आयकर के अधिकारियों ने तमाम दस्ताबेज़ बरामद किये हैं…अरे दाज्यू इस पूरी छापेमारी को बड़े गुप्त तरीके से अंजाम दिया इन इनकम-टैक्स वालों ने…पुलिस वालों को भी इसकी इत्तिला ऐन वक्त पर दी गई…जिसके बाद अपने शहर में कई जगह भारी पुलिस दल तैनात कर दिये गये।

सेंट्रल हॉस्पीटल के निदेशक डॉ. संजय जुयाल, रमेश शर्मा, सुरेंद्र भूटियानी, गिरीश गुप्ता के घर पर आयकर वालों ने घंटों पूछताछ भी की…देहरादून में जो आयकर विभाग के डिप्टी-कमिश्नर हैं एन.के.गोयल साहब उन्होंने बताया कि आयकर विभाग की टीम ने एक साथ छापेमारी की और सभी निदेशकों की संपत्ति और न लोगों ने अब तक जो Income tax Return दाखिल करें हैं सबका मिलान किया जा रहा है…इस सबके बाद ही तमाम बातों का खुलासा हो सकेगा।

सेंट्रल हॉस्पीटल के जितने भी निदेशक हैं वो शहर के बड़े बिज़नेसमैन हैं…और तो और जो डॉ. संजय जुयाल है वो क्रिकेट खिलाड़ी आर्यन जुयाल के पिता है…वो ही आर्यन जुयाल जो Team India की under-19 में चुने गये हैं…इसके अलावा जो निदेशक हैं उनमें से किसी का स्कूल है तो कोई थोक गल्ले और ट्रांसपोर्ट के कारोबार से जुड़ा है…बहरहाल यकर विभाग की इवेस्टीगेशन टीम की अपने हल्द्वानी में ये एक बड़ी छापेमारी है…छापेमारी में मिले दस्तावेज़ों की ये टीम अब जांच करने में जुटी है…इस जांच के बाद ही दूध का दूध और पानी का पानी हो पायेगा।           

Share, Likes & Subscribe

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *