409 युवा कैडेटस बने सैन्य अफसर, देश की रक्षा के लिए जान की बाजी लगा देने की ली शपथ

देहरादून, #HaldwaniLive  कदम कदम बढ़ाए जा, खुशी के गीत गाये जा…ये जिंदगी है कौम की, तू कौम पे लुटाए जा…वीर रस से भरे इस गीत पर मिलेट्री बैंड की धुन पर कदमताल करते देहरादून स्थित सैन्य प्रशिक्षण अकादमी ( IMA ) में शनिवार सुबह देशभर के अलग-अलग राज्यों और विदेशों से आये 487 कैडेट्स ने अपना प्रशिक्षण पूरा किया। और सैन्य अफसर की शपथ लेते हुए देश पर अपनी जान कुर्बान कर देने की शपथ ली। मौका थी पासिंग आउट परेड का । 487 जेंटलमैंन केडेट्स में हिंदुस्तान की सरजमीं पर जन्म लेने वाले 409 नौजवान भारतीय सेना का हिस्सा बनें। पीओपी यानी पासिंग आउट परेड के इस ख़ास मौके पर बांग्लादेशी सेना के प्रमुख जरनल अबू बिलाल मुहम्मद शैफुल हक़ ने दीक्षांत परेड की सलामी ली।

शनिवार सुबह 8 बजकर 50 मिनट पर मार्कस कॉल के साथ परेड की शुरूवात हुई। कंपनी सार्जेंट मेजर अभिषेक सिंह, लेसर सिंह, कपिल चौधरी, विशाल सिंह, आशीष कुमार, रजत पांडे, हेमंत सिंह बिष्ट और पंकज कौशिक ने ड्रिल स्कावयर पर अपनी अपनी जगह ली। एडवांस कॉल के साथ ही गर्व से सीना चौड़ा किये देश के जांवाज़ कदम-ताल करते हुए परेड के लिए पहुंचे। इसके बाद परेड कमांड कमांडर चंद्रकांत आचार्य ने ड्रिल स्क्वायर पर जगह ली और परेड की शुरूवात की। नौजवान कैडेट्स से अफसर बनने के इस मौक पर कदम-ताल की आवाज़ से परेड ग्रांउड गूंज उठा।

कैडेट्स के बेहतर प्रदर्शन के लिए ओवरऑल बेस्ट परफॉरमेंस के साथ उनकी अन्य उपलब्धियों के लिए उन्हें उत्कृष्ट सम्मान से नवाज़ा गया। परेड प्रदर्शन के दौरान मुख्य अतिथियों में आरट्रैक कमांडर ले.जन.मनोज मुकंद नरवाने, आइएमए के कमाडेंट ले.जन.एसके झा, डिप्टी कमांडेंट मेजर जन. जेएस नेहरा समेत सेना से जुड़े और सेवानिवृत सैन्य अधिकारी मौजूद रहे।

पासिंग आउट परेड में स्वॉर्ड ऑफ ऑनर व स्वर्ण पदक उड़ीसा के– चंद्रकांत आर्चाय को मिला जबकि

रजत पदक पंजाब ,होशियारपुर के अमरप्रीत सिंह ढट्ट

कांस्य पदक पश्चिम बंगाल, नादिया के सौरव दास

टीजी सिल्वर तेलंगाना, हैदराबाद के बर्नाना यादगिरी

सर्वश्रेष्ठ विदेशी कैडेट, तजाकिस्तान के एलेग्जेंडर

चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बैनर नौशेरा कंपनी को हासिल हुआ।

 

Share, Likes & Subscribe

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *