हल्द्वानी में धूम-धाम से मनाया गया गुरू-पर्व…भाई-चारे की पेश की मिसाल..!

हल्द्वानी में गुरू पर्व की धूम
        हल्द्वानी वासियों ने धूमधाम से मनाया 351वां प्रकाश उत्सव “गुरु-पर्व”

हल्द्वानी #BolHaldwaniBol सिख गुरू श्री गोविंद सिंह जी के 351वें प्रकाश उत्सव के मौके पर नगर भर में कीर्तन-संगत निकाली गईं…कीर्तन संगत के अलावा एक से बढ़कर एक झांकी लोगों को भाईचारे का संदेश देने वाली झांकिया भी लोगों के आकर्षण का केंद्र थीं…लोग सड़कों के दोनों ओर खड़े होकर इन झाकियों को निहार रहे थे…हल्द्वानी की फिंज़ा पूरी तरह बदली-बदली सी नज़र आई…शहर के नानकपुरा इलाके से लेकर रामलीला ग्राउंड तक जाने वाली लगभग सभी सड़कों पर झांकिया ही झांकियां नज़र  रही थीं।

गुरू पर्व पर गुरू गोविंद सिंह जी के जीवन से जुड़ी ऐसी अनेक झांकियां थीं जो शहरवासियों को भाईचारे से रहने का संदेश देती दिखाई दीं….सबसे ख़ास चार साहिबजादे की शहीदी वाली झांकी को नगरवासियों ने बेहद सराहा… इसके अलावा सिख धर्म मानवता का प्रतीक, स्वच्छ भारत अभियान झांकी भी नज़र आई…लेकिनइस सबके बावजूद सड़कों पर लोगों ने प्रसाद के रूप में मिलने वाली फ्रूटी के पैक-और हलुए के प्रसाद का दोना जमकर सड़क पर ही फैलाया…जो हैरानी की बात थी…

 

आपसी भाईचारे की पेश की मिसाल
हल्द्वानी में गुरू-पर्व पर दिखा आपसी भाईचारा

सबसे ख़ास बात थी अपने शहर के तमाम दूसरे धर्मों को मानने वाले लोगों की शिरकत … जो वाकईअपने हल्द्वानी  को दूसरे शहरों से बेहद अलग बनाती है…और भाईचारे का संदेश देती है…वहीं हरियाली का संदेश देती झांकी दिखी तो शहर में तेज़ी से फैलते नशे पर भी झांकी की प्रस्तुति की गई…सिख समाज से जुड़ी तमाम मन को मोह लेने वाली झांकिया भी लोगों के आकर्षण का केंद्र रहीं…शहर के लगभग तमाम बड़े बैंड-बाजे वाले धार्मिक धुनों को बजाते सुनाई दिये…तो वहीं म्यूजिक सिस्टम के ज़रिए शबद-कार्तन की मधुर गूंज भी कानों को भागती दौड़ती जिंदगी में बेहद सुकून दे रही थी…इस जलसे में अपने हल्द्वानी के ही तमाम स्कूलों के बच्चों ने भी हिस्सा लिया…

ख़ास अंदाज़ में दिखे Satinder singh shammi
Haldwani Live परिवार के सदस्य सतिंदर सिंह शम्मी जी

इसके अलावा सबसे ज्यादा नगरवासियों को आकर्षित किया…पंजाबी दिलेरों के करतब खेल ने…जिसमें खासतौर पर श्री भगोती अखाडा, निडर ख़ालसा गतका अखाड़ा, लुधियाना बाबा दीप सिंह गतका आखाड़ा, रूद्रपुर के जाबांजों ने अपने हैरत-अंगेज करतब दिखाकर लोगों को दांतों तले उंगलिया दबाने पर मजबूर कर अपनी दिलेरी का अहसास करवा दिया…अपने #HaldwaniLive से जुड़े सतेंद्र सिंह शम्मी जी भी बेहद ख़ास अंदाज़ में दिखे…

बुधवार के रोज़ पूरा हल्दवानी नगर शबद-कीर्तन की गूंज से रसमय होता दिखी दिया…श्री गुरू गोविंद सिंह जी के 351वें प्रकाश उत्सव का शुभारंभ अपने रामलीला ग्राउंड से शुरू हुआ…जिसके बाद बड़े जुलूस की शक्ल ख्तियार करते हुए नगर कीर्तन मंडली स्टेडियम चौराहे से होती हुई मेन रोड से तिकोनिया, वर्कशॉप लाइन, रोडवेज़, केमू स्टेशन, रेलवे बाज़ार, कारखाना बाज़ार, मीरा मार्ग, मंगल पड़ाव, सिंधी चौराहे से मेन रोड पर होते हुए वापस रामलीला ग्राउंड पर जाकर समाप्त हुई…

लेकिन इस सबके दौरान हलद्वानी वासियों समेत बाहर से आने-जाने वालों को सड़कों पर लगे भारी जाम से भी दो-चार होना पड़ा…जिसके चलते लोगों को खासी परेशानी का सामना भी करना पड़ा…इस बात को जुलूस में मौजूद बड़े बुज़ुर्गों ने भी स्वीकार किया…कहने का मतलब है कि धार्मिक आयोजन को निकलना था ये तो पहले से ही तय था…लेकिन इतने बड़े जलसे को सड़कों पर से गुज़ारने का प्लान न तो प्रशासन ने बनाया और न ही पुलिस महकमें ने यातायात अवरोध होने की स्थिति में रूट-डायवर्जन का प्लॉन तैयार किया…लिहाज़ा पूरे नगर में जाम ही जाम…सड़कों से लेकर गलियों तक दिखाई दिया…जो पुलिस और प्रशासन की कार्य-प्रणाली पर सवालिया निशान खड़े करता है

Share, Likes & Subscribe

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *