“सरकार” को “सड़क पर खड़े रखने वाले” – फौजी के ख़िलाफ़ शिकायत… जांच शुरू!

CM Trivendra Singh Rawat Helicopter matter
सीएम की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वाले फौजी के खिलाफ दर्ज़ हुई शिकायत!

उत्तराखंड #Dehradun सरकार और उनके काफिले को बीच सड़क पर रोकने और खड़ा करने वाले आरोपी फौजी अधिकारी की हिटलरशाही के चर्चे पूरे सूबे में हो रहे हैं। मामला अब तूल पकड़ चुका है।

आरोप है कि सूबे की राजधानी में एक फौजी अधिकारी राज्य के मुख्यमंत्री को ही बीच सड़क पर खड़ा करवा देता है। आरोप तो ये भी है कि सीएम के हेलीकॉप्टर को उतरने के वक्त भी फौजियों ने न सिर्फ बद्तमीजी की बल्कि एक ऐसा अपराध किया है, जो सूबे के मुखिया के लिए जानलेवा भी साबित हो सकता था।

जिस तरह से फौजियों ने बीच-हेलीपैड पर सीएम के हेलीकॉप्टर के उतरते वक्त दो ड्रम रख दिये, लेकिन ऐन-मौके पर पायलट की नज़र पड़ जाने के चलते हेलिकॉप्टर को दूसरी दिशा में करके सही सलामत लैडिंग कर ली गई। और एक बड़ा हादसा होने से टल गया।

इस पूरे मामले में सीएम के मुख्य सुरक्षा अधिकारी ने थाना कैंट में रिपोर्ट दर्ज़ करवा दी है। रिपोर्ट में सिलसिलेवार हुए घटनाक्रम को बताया गया है। वहीं इस पूरे मामले के गवाह रहे सीओ सिटी समेत अपर सिटी मजिस्ट्रेट ने भी SSP एसएसपी- DM डीएम देहरादून को अपनी रिपोर्ट भेजी है।

CM Security Matter Complaint
सीओ-सिटी और अपर सिटी मजिस्ट्रेट ने DM से की मामले की लिखित शिकायत

वहीं इस पूरे मामले पर उत्तराखंड सब एरिया के जीओसी मेजर जरनल जेएस यादव का कहना कुछ और ही है। उनके मुताबिक जिस तरह से मामले को बताया जा रहा है वो पूरी तरह से ग़लत है और इस पूरे मामले की सटीक जानकारी पुलिस महानिदेशक और मुख्य सचिव के पास है। क्योंकि जिस हेलीपैड पर “सरकार” के उड़न-खटोले की लैंडिग होनी थी, वो जगह सुरक्षित नहीं थी।

 

Complaint latter to SSP DOON BY CM Security officer
सीएम के मुख्य सुरक्षा अधिकारी ने भी SSP से की मामले की शिकायत

वहीं दूसरी ओर इस पूरे मामले पर बीच सड़क पर एक फौजी अधिकारी के हाथों रोके जाने के मामले पर “सरकार” काफ़ी ख़फा हैं। आरोपी फौजी अधिकारी की इस हरकत पर “सरकार” ने गंभीर रुख़ लेते हुए अपनी नारज़गी भी ज़ाहिर की है। जानकारी के मुताबिक अब सरकार , आरोपी जीओसी ( फौजी अधिकारी ) की हिटलरशाही वाली हरकत के बारे में अब Defense Ministry  रक्षा-मंत्रालय से भी शिकायत के मूड में है।वहीं सचिवालय ने शिकायत मिलते ही इस पूरे मामले पर उच्च स्तरीय जांच बैठा दी है। क्योंकि पूरा मामला सीएम की सिक्योरिटी से जुड़ा हुआ है। इसलिए इस पूरे प्रकरण की शिकायत Home Ministry  गृह-मंत्रालय, भारत सरकार से भी की जा रही है।               

Share, Likes & Subscribe

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *